Thursday 13 October

करवा चौथ का उद्यापन उसी दिन किया जाता है. जानते हैं करवा चौथ उद्यापन की सामग्री और विधि

करवा चौथ उद्यापन सामग्री (Karwa Chauth Udhyapan Samagri) – नारियल, रोली, अक्षत – थाली, सिक्का, सुपारी – सुहाग का सामान - कुमकुम, सिंदूर, मेहंदी, बिछिया, वस्त्र, महावर, चूड़ी, हल्दी, बिंदी

– करवा चौथ पर उद्यापन करने के लिए 13 सुहागिनों को सुपारी देकर भोजन के लिए आमंत्रित करें. 13 स्त्रियां वहीं हों जो करवा चौथ का व्रत करती हैं.

करवा चौथ वाले दिन प्रात: काल स्नान कर साफ या नई साड़ी पहनें. सरगी का सेवन कर व्रत का संकल्प लें और दिनभर निर्जला व्रत रखें

v– 13 महिलाओं को भोजन से पहले इस हलवा पूड़ी का प्रसाद खिलाएं. अब सबसे पहले भोजन की थाली सास परोसें. इसके साथ उन्हें सुहाग का सामान भेंट करें. अगर सास सुहागिन नहीं है तो घर की दूसरी वृद्धि महिला को ये थाली और सामान भेंट कर उनका आशीर्वाद लें.

– आमंत्रित सभी 13 महिलाओं को भोजन कराएं और उन्हें टीका कर एक थाली या प्लेट में सुहाग की सामग्री, कुछ रुपये रखकर भेंट करें.

– देवर या जेठ के एक लड़के को साक्षी बनाकर उसे भी भोजन करवाएं और उसे नारियल और रुपये भेंट दें.

– अब एक थाली में 4-4 पूड़ी पर हलवा रखकर 13 जगह रखें. थाली पर रोली से टीका कर अक्षत लगाएं. थाली को गणेश जी को चढ़ाएं

– अब एक थाली में 4-4 पूड़ी पर हलवा रखकर 13 जगह रखें. थाली पर रोली से टीका कर अक्षत लगाएं. थाली को गणेश जी को चढ़ाएं